Swot Analysis In Hindi | स्वॉट विश्लेषण क्या है?

इस पोस्ट में हम जानेंगे Swot Analysis क्या है? swot analysis full form, Meaning of swot analysis in hindi, SWOT के उपयोग और फायदे और What is swot analysis in hindi इत्यादी के बारेमे।

स्वॉट विश्लेषण याने Swot Analysis का श्रेय Albert Humphrey को जाता है, जिन्होंने 1960 और 1970 के दशक की शुरुआत में स्टैनफोर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट (SRI) में यह दृष्टिकोण विकसित किया था। इस स्वॉट विश्लेषण का व्यक्ति, संगठन, व्यावसायिक या प्रकल्प में ताकत, कमजोरियों, अवसरों और खतरों को उजागर करने और पहचानने के लिए उपयोग किया जाता है।

Swot Analysis In Hindi - स्वॉट विश्लेषण क्या है?

What Is Swot Analysis In Hindi? - Swot Analysis क्या है?

Swot Analysis याने स्वॉट विश्लेषण यह एक तकनीक है, जिसका उपयोग व्यक्ति, संगठन, व्यावसायिक, शैक्षणिक समुदाय या प्रकल्प में प्रतिस्पर्धा या परियोजना नियोजन से संबंधित Strength(ताकत ), Weaknesses(कमजोरी), Opportunities(अवसर) और Threats(खतरा) को मूल्यांकन करने, उजागर करने और पहचानने के लिए किया जाता है।

स्वॉट विश्लेषण तकनीक से हम व्यक्ति, संगठन, व्यवसाय या किसी भी शैक्षणिक समुदाय के आंतरिक और बाहरी विचारों, घटकों या कारकों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है, जिससे उनका मूल्यांकन करने में हमें आसानी होती है। इसके अनुसार हम अपने दोष को सुधारने के लिए नए नए तंत्र और प्रक्रिया को उजागर कर सकते हैं, और आप अपने आप को आंतरिक चुनौतियों और बाहरी अवसरों के लिये तैयार करते हैं।

SWOT Analysis Full Form

Swot Full Form: Strengths, Weaknesses, Opportunities, and Threats analysis

Meaning Of Swot Analysis In Hindi - Swot Full Form In Hindi

यह SWOT शब्द चार अलग अलग अक्षर को जोड़ कर बनाया गया है, जिसका हमने निचे विश्लेषण किया है:

  • S: Strength (ताकत, सामर्थ्य)
  • W: Weaknesses (कमजोरी)
  • O: Opportunities (अवसर)
  • T: Threats (खतरा)

Swot Analysis के उद्देश्य - Internal and external factors

स्वॉट एनालिसिस याने स्वॉट विश्लेषण का उद्देश्य आंतरिक और बाह्य कारकों की पहचान करना है, जो किसी भी संस्था या संगठन को लक्ष्य प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण होता हैं। यह स्वॉट विश्लेषण संस्था, संगठन या व्यवसाय की मूल्य श्रृंखला के भीतर से आते हैं।

SWOT समूह दो मुख्य श्रेणियों में डाले जाते हैं, जो 'Internal factors(आंतरिक कारक)' और 'External factors(बाह्य कारक)' है:

  • Internal factors (आंतरिक कारक): शक्तियां और कमजोरियां जो एक संगठन के लिए आंतरिक है।
  • External factors (बाह्य कारक): बाहरी वातावरण द्वारा प्रस्तुत अवसर, चुनौतियाँ और खतरे।

संस्था, संगठन, व्यावसायिक, शैक्षणिक समुदाय या प्रकल्प के उद्देश्यों और उनके प्रभाव के आधार पर आंतरिक कारकों को शक्ति या कमजोरियों के रूप में देखा जा सकता है। इन कारकों में कर्मचारी वर्ग, वित्तीय, विनिर्माण क्षमताएं और कई अन्य भी शामिल हो सकते हैं। बाह्य कारकों में सामाजिक और सांस्कृतिक परिवर्तन, व्यापक आर्थिक मामले, तकनीकी बदलाव, विधान के साथ ही साथ बाजार एवं प्रतियोगी स्थिति में परिवर्तन शामिल हो सकते हैं।

Swot Analysis के फायदे, लाभ - Importance Of Swot Analysis In Hindi

  • Swot Analysis से हम अपनी ताकत, कमजोरी, अवसरों और चुनातियों को पहचानने में मदद कर सकते है।
  • स्वॉट विश्लेषण तकनीक से अपने या संगठन के आंतरिक और बाहरी घटकों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है।
  • यह कमजोरी को बताता है, जिससे हमें अपनी कमजोरी को पहचानने और उसे तुरंत सुधारने में मदद होती है।
  • नए नए चुनौतियों को सामने रखता है, जिससे हम अपने आप को तैयार करके नए तकनीक और प्रक्रिया को अपनाते हैं।
  • Swot Analysis Technique यह किसी संगठन, संस्था या ग्रुप को प्रभावी बनाने में काफी मदद करता हैं, जो की किसी भी स्टार्टअप बिज़नेस के लिए काफी उपयोगी होता हैं।

SWOT Anyalsis कैसे लागु करे?

  • SWOT विश्लेषण के उद्देश्य पर निर्णय लें।
  • अपने संस्था के लिए जोखिम प्रबंधन योजना तैयार करने का तरीका जानें।
  • अपने संगठन, व्यवसाय, उद्योग और बाजार पर शोध करें।
  • व्यवसाय की खूबियों को सूचीबद्ध करें।
  • अपने संगठन, व्यवसाय, उद्योग की कमजोरियों को सूचीबद्ध करें।
  • संभावित अवसरों की सूची बनाएं।
  • संभावित खतरों की सूची बनाएं।
  • SWOT में मुद्दों को हल करने के लिए एक रणनीति विकसित करें।

Swot Analysis याने स्वॉट विश्लेषण यह संस्था, संगठन, व्यावसायिक, शैक्षणिक समुदाय या प्रकल्प को अपने लक्ष्यों को हासिल करने में और योग्य बनाने के लिए, रणनीति और योजनाओं को विकसित करने के एक हिस्से के रूप में काम करता है और यह तकनीक पर्यावरण और व्यापार कारकों को विश्लेषण और मूल्यांकन के लिए एक आधार के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

Swot Analysis के लिए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - FAQ

1. स्वॉट विश्लेषण क्या है?
Swot analysis या स्वॉट विश्लेषण एक रणनितिक योजना है जो व्यवसाय और संगठन के विपणन और प्रबंधन के लिए काफी उपयोगी होती है।

2. स्वॉट विश्लेषण का क्या उपयोग है?
स्वॉट विश्लेषण (SWOT Analysis) का उपयोग किसी भी प्रकार के संगठन के सामर्थ्य, कमजोरियों, अवसरों और खतरों का मूल्यांकन करने, प्रकाश डालने और पहचान करने के लिए किया जाता है।

3. Swot का क्या अर्थ है?
Swot का अर्थ S: Strength (ताकत, सामर्थ्य), W: Weaknesses (कमजोरी), O: Opportunities (अवसर), T: Threats (खतरा) होता है, और यह SWOT Analysis शब्द 1960 के दशक में अल्बर्ट हम्फ्री द्वारा गढ़ा गया था।

4. स्वॉट विश्लेषण को कैसे लागु करे?
स्वॉट विश्लेषण के उद्देश्य पर निर्णय लें, संगठन, व्यवसाय, उद्योग और बाजार पर शोध करें, व्यवसाय की खूबियों और कमजोरियों को सूचीबद्ध करें, संभावित अवसरों और खतरों की सूची बनाएं और Swot तकनीक में इन मुद्दों को हल करने के लिए एक रणनीति बनाये।

5. Swot Analysis का क्या महत्व है?
Swot Analysis से किसी भी संगठन की शक्ति, कमजोरी, अवसरों और चुनातियों को पहचानने में काफी मदद कर सकती है और हमें अपनी कमजोरी को पहचानने और उसे तुरंत सुधार में मदद होती है।

तो दोस्तों यह थी Swot Analysis in Hindi, स्वॉट विश्लेषण क्या है? swot analysis full form, SWOT के उपयोग और फायदे लाभ, इत्यादी की जानकारी। आपको यह जानकारी कैसी लगी यह हमें कॉमेंट्स करके बताये और यह पोस्ट अपने दोस्तों में जरुर शेअर करे।

2 comments:

  1. Hello Mayur,
    I am realy happy by reading in Hindi.I am very much impressed with your hard work.You are great.How I can be useful to you.I am QAS trained from. Air Force Banglore.I am retired from IAF at 57 years of age.
    Regards&thanks

    ReplyDelete