What Is 5s In Hindi? | 5S क्या है? 5s System की पूरी जानकारी

15

5s in hindi: 5s एक Workplace organization method का नाम है, इस 5s quality system को जापान में विकसित किया गया था। 5s जिस पांच जापानी शब्दों की सूची का उपयोग करके बना वह है: सीरी, सेटोन, सीसो, सीकेत्सु और शित्सुके। जिसे अंग्रेजीमे Sort, Straighten or Set in order, Shine or Clean, Standardize, Sustain कहा जाता है। तो दोस्तों यहाँ हम 5s क्या है? और यह कैसे काम करता है इसके बारे में पूरी जानकारी जानेंगे।

What Is 5s In Hindi - 5s Definition In Hindi

5S प्रणाली एक lean manufacturing tool है, जो कार्यस्थल की दक्षता में सुधार करता है और अपशिष्ट को समाप्त करता है। इस प्रणाली में पाँच चरण होते हैं, जिनमें से प्रत्येक चरण अक्षर S से शुरू होता है, जैसे Sort, Set In Order, Shine, Standardize और Sustain.

5s Concept In Hindi - 5s Implementation

5s की सूची में बताया गया है कि, इस्तेमाल की जाने वाली वस्तुओं और क्षेत्र को बनाए रखने और नए ऑर्डर को बनाए रखते समय दक्षता कैसे ले और प्रभावशीलता के लिए कैसे कार्य करे, कार्यस्थल का व्यवस्थापन, प्रक्रिया और मानकीकरण इन सभी की संशिप्त रूप से जानकारी दी गई है।

आसान शब्दों में कहा जाये तो, 5s quality system में कार्यस्थल का व्यवस्थापन, प्रक्रिया और मानकीकरण इन सभी की संशिप्त रूप से जानकारी दी जाती है, जिससे कर्मचारियों को आसानी से समझ में आये कि, उन्हें कैसे काम करना चाहिए और कैसे अपने कार्यस्थल का विकास करना चाहीए।

what is 5s in hindi, 5s in hindi, 5s kya hai, 5s full form in hindi, 5s meaning in hindi, what is 5s in hindi, 5एस क्या है, 5s kya hota hai, 5s system in hindi, 5s क्या है, 5s safety in hindi, 5s में क्रमबद्ध अर्थ, 5s chart in hindi, 5s rules in hindi, 5s in industry in hindi, 5s concept in hindi, 5s क्या होता है, 5s kya hai hindi me, 5s definition in hindi,

What is 5s in Hindi - 5S क्या है?

NoJapanese LanguageEnglish LanguageHind Language
1Seiri (सीरी)Sortसही चयन
2Seiton (सेटोन)Set In Order सुव्यवस्था
3Seiso (सीसो)Shine or Cleanस्वच्छता
4Seiketsu (सीकेत्सु)Standardizeमानकीकरण
5Shitsuke (शित्सुके)Sustainअनुशासन

5s Quality System Explain In Hindi - 5s Principles & Process

1. Seiri (Sort) सही चयन

  • अनावश्यक वस्तुओं को निकालें और उन्ही वस्तु को रखे जिसकी आवश्यकता हो, इसमे आवश्यक और जो आवश्यक नहीं है ऐसे वस्तुओ की लिस्ट बनाये जिससे पता चले की किस चीज को रखना है और किन चीजों को निकलना है।
  • बाधाओं को दूर करके कार्यस्थल में काम करना आसान बनाये।
  • अनावश्यक वस्तुओं और जमा किये हुए अनावश्यक वस्तु वो के साथ परेशान होने का मौका कम करें।
  • अनावश्यक वस्तुओं के संग्रह को रोके और आवश्यक वस्तुओ का ही संग्रह करे।
  • मुलभुत कारणों के संबंध में आवश्यक वस्तुओं का मूल्यांकन करें और कलर कोड का इस्तेमाल करे।
  • जितना चाहिए और जितना जरूरी है, उतने ही वस्तु मंगवाये।

Benefits of Short - सही चयन के लाभ

  1. आवश्यक वस्तु का ही संग्रह करनेसे, काम में आने वाली वस्तु जल्द से जल्द मिल जाती है। वस्तुओं को खोजने में ज्यादा समय नहीं लगता है।
  2. कार्यक्षेत्र की बाधाओ को याने अनावश्यक चीजों दूर करने से कार्यस्थल अच्छा दिखता है, इसकी वजह से काम में उत्साह और तेज़ी आती है।
  3. हमें जिन जिन वस्तुओ की जरुरत बार बार होती है, उनको हमारे नजदीक रहने से ढूढने में समय नहीं लगता जिसकी वजह से किसी भी काम को बड़ी आसानी से वक्त पर किया जा सकता है।
  4. जितनी वस्तुओं की जरुरत है उतनीही वस्तु मंगवाने से एक्स्ट्रा वस्तु का वस्तुओं का सग्रह नहीं बनता है जिसकी वजह से Productivity में सुधार आता है।

ये भी पढ़े: What is Poka Yoke in Hindi, Poka Yoke क्या है?

2. Seiton (Straighten or Set in order) सुव्यवस्था 

  • सभी आवश्यक वस्तुओं को क्रम में व्यवस्थित करें ताकि वे उपयोग के लिए आसानी से उठा सकें या आसानी से मिल सखे।
  • समय की हानि और अपशिष्ट को रोकें। 
  • आवश्यक वस्तुओं को ढूंढना और चुनना आसान बनाएं इसके लिए आवश्यकता अनुसार साइन बोर्ड और टैग का इस्तेमाल करे और सभी चीजों के लिए अपनी विशेषता अनुसार जगह करे और बाद में वो सभी चीजें अपनी अपनी जगह पर रखे। 
  • कोई भी वस्तुओ का उपयोग करने के बाद उन वस्तुओ को सही तरीके से अपने अपने निर्धारित जगह पर ही रखे।
  • पहले आओ-पहले-सेवा कार्य के आधार को सुनिश्चित करें।

Benefits of Set in Order - सुव्यवस्था लाभ

  1. सभी वस्तुओं को व्यवस्थित क्रम में रखने से वस्तु की पहचान करने में बहुत ही कम समय लगता है।
  2. उपयोग में आने वाली सभी वस्तुओं को आसानी से उठा सकते है।
  3. कोई भी नया हो या पुराना व्यक्ति आसानी से वस्तु को पहचान कर प्राप्त कर सकता है जिससे किसी को भी वस्तु को खोजने में वक्त नहीं लगता।
  4. वस्तु के क्रम के कारण कोनसी वस्तु कहा है यह हम आसानी से जान सकते है।

3. Seiso (Shine or Clean) स्वच्छता 

  • अपने कार्यस्थल को पूरी तरह से साफ करें।
  • निरीक्षण के रूप में साफ सफाई का उपयोग करें।
  • मशीनरी और उपकरण की लीकेज को सही तरीके से रोके और मशीनों की साफ सफाई करे।
  • काम के लिए और मशीन के लिए उपयोग में आने वाले सभी उपकरणों को समय समय पर वक्त अनुसार साफ करे।
  • कार्यस्थल को सुरक्षित और काम करने में आसान इस योग्य बनाये।
  • योग्यता नुसार अपनी ज़िम्मेदारी खुद निभाए।
  • मशीन उपकरणों में आने वाले समस्याओं का समाधान करे और उस पर अमल करे।

Benefits of Shine or Clean - स्वच्छता के लाभ

  1. अपने कार्यस्थल की योग्य साफसफाई रखरखाव होने से किसी भी बहरी व्यक्ति हो या विजिटर को अपने संस्था या कंपनी के प्रति एक योग्य आकर्षण रहता है।
  2. वस्तुये, उपकरण या मशीन्स की समय समय पर सफाई और Maintenance करने से यह काफी लम्बे समय तक चलती है।
  3. कार्यक्षेत्र के वस्तुये, उपकरण या मशीन्स में आने वाले समस्याओं का समाधान वक्त पर होने से ब्रेक-डाउन का भी खतरा कम होता है।

4. Seiketsu (Standardize) मानकीकरण 

  • हर समय हॉउसकीपिंग और कार्यस्थल संगठन के उच्च मानकों को बनाए रखें और योग्य नियमों का पालन करे।
  • पहले 3s के नियमों को सुनिश्चित करके उन नियमों का पालन करे।
  • योग्यता नुसार ज़िम्मेदारी दे और ज़िम्मेदारी ले।
  • स्वच्छता और अनुशासन बनाए रखें।
  • क्रम और इसके मानक के अनुसार हर चीज को बनाए रखें।
  • ऑडिट चेक लिस्ट का उपयोग करके नियमित रूप से 5s कार्यान्वयन की स्थिति की समीक्षा करें।
  • उपयोग करने योग्य वस्तुओ के लिए कलर कोड सुनिश्चित करे।

Benefits of Standardize - मानकीकरण के लाभ

  1. योग्य नियमो का पालन होने के कारण संगटन, संस्था या कंपनी की क्वालिटी में बहुत सुधार होता है।
  2. योग्यता अनुसार ज़िम्मेदारी मिलने या देने से काम के लिए योग्य व्यक्ति का चुनाव होता है और अनुशासन भी बना रहता है।
  3. क्रम और क्वालिटी अनुसार चीजे बनाये रखने से कार्य को समझने में आसानी मिलती है और कार्य में सुधार और तेजे आती है।
  4. हर बार ऑडिट चेक लिस्ट का प्रयोग होने से पहले '3s' और बाकि 'S' का पालन होता है।

5. Shitsuke (Sustain) अनुशासन 

  • कार्य योग्य समय और कार्य प्रणाली अनुसार करे।
  • दूसरों के साथ भी बिना बताये उनकी भी काम में मदद करें।
  • अपने सभी कर्मचारियों को योग्य प्रशिक्षण दे।
  • अपने सभी कर्मचारियों को ज़िम्मेदारी से काम करने के लिए प्रोत्साहित करे।
  • आत्म अनुशासन बनाये।
  • नियमित ऑडिट करे।
  • प्रक्रिया का पालन करे और उसे समय पर सुधार के लिए भी खुला रखे।
  • खुद को प्रशिक्षित और अनुशासित रखे।

Benefits of Sustainable - अनुशासन के लाभ

  1. सबसे जरुरी बात Team work बना रहता है, और Communication System भी अच्छा रहता है।
  2. जिससे सभी कार्य समय पर और बेहतर क्वालिटी के साथ होता है।
  3. सभी व्यक्ति या कर्मचारी अपनी अपनी ज़िम्मेदारी समझता है जिससे कार्य क्षेत्र में अनुशासन और आत्म अनुशासन बनता है।
  4. हर बार नियमित ऑडिट होने से जरुरी बातो को ध्यान में लाया जाता है, किसी भी चीज को नजर-अंदाज नहीं किया जा सकता है।
  5. हर व्यक्ति ख़ुद को प्रशिक्षित और अनुशासित रखने से कार्य-स्थल और अपने अपने काम ने सुधार और तेज़ी आसकती है।

5s गुणवत्ता प्रणाली अपनाने के फायदे

  1. कार्य स्थल की गुणवत्ता बढ़ती है।
  2. उच्च उत्पादन क्षमता।
  3. सभी कर्मचारी अनुशासित और प्रशिक्षित।
  4. दुर्घटना में कमी।
  5. कम समय में ज्यादा काम और उत्पादन की गुणवत्ता में बढ़ोत्तरी।
  6. कार्यस्थल विभागों की स्वछता।
  7. कर्मचारियों मे उत्साह।

ये भी पढ़े: 5s Colors, 5s Color code standards chart

5S कार्यप्रणाली विनिर्माण याने Manufacturing से विस्तारित हुई है और अब इसे Health care, Education और Government सहित विभिन्न प्रकार के उद्योगों पर लागू किया जा रहा है। Visual management और स्वास्थ्य देखभाल में विशेष रूप से 5S फायदेमंद हो सकते हैं। 5S methodology की उत्पत्ति निर्माण में है, पर यह भौतिक उत्पाद के स्थान पर सूचना, सॉफ्टवेयर या मीडिया के साथ ज्ञान अर्थव्यवस्था के काम में भी लागू किया जा सकता है।

ये भी पढ़े:
1. What is Kaizen in Hindi?
2. Six Sigma क्या है?
3. 7 QC tools in Hindi

FAQs For 5s In Hindi

5S के पांच सिद्धांत कौन से हैं?

Seiri (सही चयन), Seiton (सुव्यवस्था), Seiso (स्वच्छता), Seiketsu (मानकीकरण), Shitsuke (अनुशासन) यह 5S के पांच सिद्धांत है।

5S का आविष्कार किस देश ने किया?

इस 5S प्रणाली का आविष्कार जापान में हुवा था, जिसे कार्य-कुशलता, प्रभावशीलता और सुरक्षा में सुधार के लिए और अपनी नई विनिर्माण प्रणालियों को मजबूत करने के लिए विकसित किया गया था।

5s प्रणाली किसने विकसित की थी?

5s को पहले Toyota Production System (TPS) के रूप में जाना जाता था, जिसे ताइची ओहनो (Taiichi Ohno) और इजी टोयोडा (Eiji Toyoda) ने 1950 में जापानी औद्योगिक इंजीनियरों के साथ विकसित किया था, और फिर इसमें कुछ नए सुधारों साथ साकिची टोयोडा (Sakichi Toyoda), उनके बेटे किइचिरो (Kiichiro) और ताइची ओहनो ने TPS को फिर से डिज़ाइन किया और इसे 5S नाम दिया गया है।

तो उम्मीद करते है की आपको What is 5s Quality system, 5s Process, Concept और Principles के बारे मे काफी कुछ जानकारी मिली होंगी। आपको ये पोस्ट अच्छी लगी तो हमें comments करके बताये और अपने दोस्तों में भी share भी करे, यदि आपके पास और भी कुछ जानकारी हो तो हमें बताये हम आपकी जानकारी ज़रूर हमारे पोस्ट में जोड़ेंगे।

Post a Comment

15 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. thank you sir, this is big help, here i completely understand 5 s topics. i want say only thank u very much

    ReplyDelete
  2. dear sir, me cnc trainer, 5s trainer or safety and health trainer ke liye job me liya gaya hunn.. to isme mera future hoga ya nahi????

    ReplyDelete
    Replies
    1. बिलकुल है... बहुत स्कोप है .आज कल इन सब के लिए बहुत से जॉब है, जो अच्छी अच्छी कंपनीया ऑफ़र करती है .

      Delete
  3. thank you sir ,this is verry helpfull informations,plz discribe iso-9001-2015 --what is risk? topic

    ReplyDelete
    Replies
    1. ISO की पूरी जानकारी जानने के लिए यहाँ CLICK kare .CLICK kare

      Delete
  4. Sir bhoot achhi jankari Di hai Aap NE 5S syteam ke baare me

    ReplyDelete
  5. Yes it is good suggestion for office and keep up the 5s in our company,

    ReplyDelete
  6. Very important thing, this question has been asked many times in interview at many MNC.

    ReplyDelete
  7. बहुत ही अच्छी जानकारी सर्

    ReplyDelete
  8. Yea it's a very good support to me and improve my knowledge

    ReplyDelete
  9. you web designs is different from all who ranked in first page on this keyword 5s in hindi. and you have provided also a good information. thanks

    ReplyDelete
  10. Sir agar health care company me yaani farma company me production operator hai toh aage koi growth Hoti hai

    ReplyDelete
  11. hii apake blog se hame bahut sikane ko milata hai..thanks.

    ReplyDelete
Post a Comment