Turbocharger In Hindi | टर्बोचार्जर क्या है? Types Of Turbocharger In Hindi

0

आपने टर्बोचार्जर का नाम कई बार सुना होंगा, जो लोग वाहनों के शौकीन है और जिनके पास वाहन है उनको इस चीज के बारे में पता होंगा, आपको बता दे की यह turbocharger वाहन के इंजन में लगाया जाने वाला एक उपकरण है। तो दोस्तों हमने इस पोस्ट में आपके लिए टर्बोचार्जर की पूरी जानकारी दी है जैसे की, टर्बोचार्जर क्या है, what is turbocharger in hindi, types of turbocharger, टर्बोचार्जर के लाभ-फायदे, turbocharger working in hindi, टर्बोचार्जर कैसे काम करता है? इत्यादी।

turbocharger in hindi, turbocharger kya hai, what is turbocharger in hindi, टर्बोचार्जर क्या है, टर्बोचार्जर के प्रकार, turbocharger kya hota hai, turbocharger working in hindi, turbo meaning in hindi, turbocharger diagram, types of turbocharger, टर्बोचार्जर के लाभ, turbocharger parts name,

(toc)

टर्बोचार्जर क्या है? - What Is Turbocharger In Hindi

टर्बोचार्जर वाहन के इंजन में लगाया जाने वाला एक उपकरण है, जिसके उपयोग से इंजन की शक्ति और एफिसिएन्सी बढ़ाई जाती है। याने यह Turbocharger वाहन के इंजन की क्षमता और प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

यह टर्बोचार्जर एक गैस कंप्रेसर की मदद से इंजन में जाने वाली हवा की मात्रा और घनत्व को बढ़ा देता है, जिससे इंजन की कार्यक्षमता बढ़ जाती है। इसमें टरबाइन के द्वारा संचालित कंप्रेसर का उपयोग किया जाता है, और यह टरबाइन इंजन से निकलने वाली एग्जॉस्ट गैसों से चलती है।

एक Turbocharged Diesel Engine और एक पारंपरिक Naturally Aspirated Petrol Engine के बीच एक महत्वपूर्ण अंतर यह है कि, डीजल इंजन में प्रवेश करने वाली हवा को ईंधन(fuel) इंजेक्ट करने से पहले कॉम्प्रेस किया जाता है, जो यहां टर्बोचार्जर डीजल इंजन के प्रदर्शन और क्षमता के लिए महत्वपूर्ण है।

इंजन के सिलेंडर में प्रवेश करने वाली अधिक हवा को कॉम्प्रेस करना टर्बोचार्जर का काम है। जब हवा को कॉम्प्रेस किया जाता है, तो ऑक्सीजन के अणु एक साथ अधिक कसकर पैक होते हैं। वायु प्रवाह में इस वृद्धि का अर्थ यह है कि समान आकार के नैचुरली एस्पिरेटेड इंजन में अधिक ईंधन(fuel) जोड़ा जा सकता है। तब यह बढ़ी हुई यांत्रिक शक्ति और Combustion प्रक्रिया की क्षमता में सुधार लाता है।

Turbocharger Working In Hindi - टर्बोचार्जर कैसे काम करता है?

यह Turbocharger उपकरण एक टर्बो शाफ्ट द्वारा एक साथ जुड़े दो हिस्सों से बना होता है। यह टर्बोचार्जर एग्जॉस्ट से निकलने वाली गर्म गैसों से चलता है, इसलिए इसे इंजन के exhaust manifold के उस भाग पर लगाया जाता है, जहाँ से गर्म गैसें बाहर निकलती हैं।

इसके एक हिस्से की तरफ Turbine wheel होता है जिसे गर्म निकास गैसें घुमाती हैं और दूसरे हिस्से की तरफ टरबाइन से जुड़ा Compressor wheel होता है जो साफ हवा को खींचता है और इंजन में कॉम्प्रेस करता है। यह कॉम्प्रेस हवा इंजन को अतिरिक्त शक्ति और क्षमता देती है, क्योंकि combustion chamber में जितनी अधिक हवा जा सकती है, उतनी ही अधिक शक्ति के लिए अधिक ईंधन जोड़ा जा सकता है।

इस turbocharger मे जो एक टर्बो शाफ्ट से जुड़े दो व्हील लगे होते है (टरबाइन व्हील और कंप्रेसर व्हील) वह एक साथ घुमते है, याने यदि एक व्हील घूमता है तो उसके साथ साथ दूसरा व्हील भी साथ घूमता है, जिससे इन और आउट की प्रक्रिया पूरी होती है।

turbocharger working in hindi, turbo meaning in hindi, turbocharger diagram, types of turbocharger, टर्बोचार्जर के लाभ, turbocharger parts name, turbocharger in hindi, turbocharger kya hai, what is turbocharger in hindi,

Turbocharger Parts Name - टर्बोचार्जर के भाग

टर्बोचार्जर उपकरण में कई प्रकार के पार्ट्स लगे होते है, जिसे हमने नीचे निम्नलिखित किया है:

  • Turbine
  • Ball Bearings
  • Compressor
  • Intercooler
  • Blow-Off Valves
  • Piping & Manifolds
  • Wastegates
  • Hot Side Piping
  • Center Housing or Rotating Assembly (CHRA)
  • Back Plate

Turbocharger Parts Name, turbocharger diagram, टर्बोचार्जर के भाग

Types Of Turbocharger In Hindi - टर्बोचार्जर के प्रकार

  • Electric Turbocharger
  • Single Turbocharger
  • Twin Turbocharger
  • Twin-Scroll Turbocharger
  • Variable Geometry Turbo
  • Variable Twin Scroll Turbo
  • Quad-Turbocharged
  • Hot-V Turbocharger

Advantages Of Turbocharger - टर्बोचार्जर के फायदे

  • यह टर्बोचार्जर पेट्रोल और डीजल इन दोनों इंजनों के लिए बेहतर हॉर्सपावर प्रदान करता है।
  • इंजन में बेहतर combustion प्रोसेस होती है, इसलिए यह ईंधन की भी बचत करता है।
  • इंजन को अधिक ईंधन के साथ इंजेक्ट किया जा सकता है, जिससे इंजन की शक्ति बढ़ जाती है। 
  • Low speed acceleration के दौरान कम धुआं छोड़ता है।
  • इंजन की शक्ति और टॉर्क अपनी सीमा से बढ़कर अधिक हो जाती है।
  • उत्सर्जन में सुधार होता है, जिससे प्रभावी प्रदूषण पर नियंत्रण होता है।
  • Turbocharger के जरिये इंजन का आकार और वजन कम किया जा सकता है।
  • इंजन बहुत स्मूथ और शांत चलता है।

Disadvantages Of Turbocharger - टर्बोचार्जर के नुकसान

  • यदि इंटरकूलर का उपयोग नहीं किया गया, तो इंजन में अत्यधिक गर्मी उत्पन्न हो सकती है।
  • इंजन तेजी से खराब हो सकता है।
  • टर्बोचार्जर इंजन बाकि इंजन की तुलना में अधिक महंगे होते हैं।
  • इसमे जटिल भाग होते हैं, यदि वह विफल हो जाते हैं या दोष निर्माण करते हैं, तो यह अन्य इंजन घटकों को प्रभावित कर सकते है।

See Also:
1. Bearing क्या है और बेअरिंग के सभी प्रकार
2. Reversible और Non reversible machine की जानकारी
3. Electric Vehicle की पूरी जानकारी

FAQs For Turbocharger In Hindi

टर्बोचार्जर का आविष्कार किसने किया?

टर्बोचार्जर का आविष्कार सन 1905 में Alfred Buchi नाम के स्विस इंजीनियर ने किया था। अल्फ्रेड बुची ने डीजल इंजन के प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए यह टर्बोचार्जर डिजाइन विकसित किया था।

सुपरचार्जर और टर्बोचार्जर में क्या अंतर है?

सुपरचार्जर अपने कंप्रेसर को चलाने के लिए इंजन से शक्ति लेता है और टर्बोचार्जर अपने कंप्रेसर को चलाने के लिए एग्जॉस्ट से निकलने वाली गर्म गैसों से शक्ति लेता है, यह सुपरचार्जर और टर्बोचार्जर में मुख्य अंतर है।

क्या यह टर्बोचार्जर एक इंजन है?

टर्बोचार्जर यह इंजन नहीं बल्कि वाहन के इंजन में लगाया गया एक उपकरण है, जिसे इंजन की समग्र क्षमता में सुधार और परफॉरमेंस को बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

तो दोस्तों आशा करते है की, आपको टर्बोचार्जर क्या है, टर्बोचार्जर कैसे काम करता है, Types of turbocharger in hindi की यह पोस्ट अच्छी लगी होंगी, यदि आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा तो हमें कॉमेंट्स करके बताये और अपने दोस्तों में जरुर शेअर करे।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
Post a Comment (0)