रेती क्या होती है? रेती के प्रकार, Engineering File Tools

आज हम जानेंगे रेती याने file के बारेमे, जैसे की, रेती क्या है, रेती के प्रकार, रेती किस मटेरियल की बनी होती है, और भी कुछ जानकारी पूरी तरीके से जानेंगे। रेती याने file यह एक ऐसा tool है, जो किसी भी manufacture कंपनी में, शॉप में या किसी industry में बहुत महत्वपूर्ण उपयोगी है। अगर आप इंजीनियरिंग क्षेत्र में है तो आपको इस tool के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी होंगी। यह file/रेती किसी भी प्रकार के Fitter का एक बहुत ही उपयोगी और महत्वपूर्ण औजार है।

रेती का उपयोग करके आप किसी भी प्रकार के work piece को घिसकर उसका अतिरिक्त मटेरियल हटा सकते है। किसी भी job से अतिरिक्त मटेरियल हटाने के लिए उसके ऊपर रेती/file को घिसाया जाता है। अतिरिक्त मटेरियल को हटाकर फिटर जैसा चाहिए वैसा आकार ला सकता है।


What material is the file made of - रेती किस मैटीरियल की बनी होती है

File/रेती ज्यादातर हाई कार्बन स्टील को फोर्ज करके बनाई जाती है। फोर्जिंग के बाद उनमे दाँते याने Teeth बनाए जाते है और इसके बाद heat treatment का उपयोग करके हार्ड की जाती है। दोस्तों कभी कभी आवश्यकता अनुसार टंग्स्टन स्टील को भी file बनाने के प्रयोग में लाया जाता है।


File/रेती के मुख्य भाग


File-रेती के मुख्य भाग, रेती क्या होती है, रेती के प्रकार, Engineering File Tools, engineering file tool, Types of Files

Handle:- इस हैंडल का इस्तेमाल file को पकड़ने के लिए किया जाता है और यह प्लास्टिक या लकड़ी का होता है।

Ferrule:- हैण्डिल में दरार पड़ने पर, दुर्घटना से बचने के लिए उसके आगे एक धातु का छल्ला लगा दिया जाता है, जिसे फैरुल कहते हैं।

Tang:- यह रेती का वह भाग है जिस पर हैंडल को चढ़ाया जाता है।

Shoulder:- टैंग और बॉडी को आपस में जोड़ता है।

Heel:- यह रेती का वह भाग है जहाँ पर दांते नहीं कटे होते।

Face:- यह रेती का मुख्य भाग है जो की file के teeth होते है।

Tip/Point:- यह file tool का अंतिम छोर होता है जो की ज्यादातर तो थोडा टेपर में ही होता है। और किसी किसी में triangle बनाया जाता है, परन्तु कभी-कभी सीधा भी होता है।


रेती के प्रकार - Types of Files Tool

रेती का उपयोग धातु और लकड़ी का काम करने वाले व्यक्ति करते हैं। पर हर एक धातु को अलग अलग तरीके से घिसने के लिए और आकार देने के लिए अलग अलग file tool का इस्तेमाल होता है। रेती के प्रकार कट के अनुसार, ग्रेड के अनुसार, आकार के अनुसार और लंबाई के अनुसार होते है। नीचे हमने कुछ मुख्य रेती के प्रकार दिए है।


Different types of File tool

Different types of File tool, engineering files tool types, रेती के प्रकार


  • Flat file
  • Hand file
  • Square file
  • Round file
  • Half-round file
  • Triangular file
  • Knife-edge file


1. Flat File (चपटी रेती) :-
चपटी रेती अपनी बनावट में काफी समतल होती है और इसका उपयोग भी फिटर द्वारा ज्यादा किया जाता है। साधारण और समतल याने फ्लैट काम के लिए सबसे ज्यादा इसका इस्तेमाल होता। इसके दोनो फेस पर सिंगल कट या फिर डबल कट दाँते बने होते हैं, यह फाइल लगभग 15 से 40 सेमी में मिलती है।

2. Hand file (हस्त रेती) :-
हस्त रेती आयताकार काट की होती है और इनके क्रॉस सेक्शन फ्लैट फाइलों के समान होकर इसकी चौड़ाई पूरी लम्बाई में समान होती है, इसकी एक एज पर सीधे सिंगल कट दाँते होते हैं और दूसरी फेस बिना दाँतों की होती है जिसे सेफ एज भी कहते है।

3. Square File (वर्गाकार रेती) :-
Square file में चार आयताकार face होते हैं। इसके प्रत्येक फेस पर डबल कट दाँते बने होते हैं। फाइल का पॉइंट की ओर 1/3 भाग टेपर में बना होता है। याने इस वर्गाकार रेती का क्रॉस सेक्शन वर्गाकार होता है इसलिए इसे वर्गाकार रेती कहते है, लगभग इसका उपयोग वर्गाकार या आयताकार वस्तु पर किया जाता है।

4. Round File (गोल रेती) :-
गोल रेती की Cross Section वृत्ताकार याने Circular होती है। इस फाइल का पॉइंट की ओर 1/3 भाग टेपर में बना होता है। इस फाइल के पूरे भाग में सिंगल कट वाले दाँते होते हैं। इस Round File tool का इस्तेमाल Circular या Curve Surfaces को घिसने के लिए किया जाता है।

5. Half Round File (अर्द्ध गोल रेती) :-
Half round फाइल एक आधा गोल फ़ाइल एक वृत्त के एक खंड के आकार में होता है। इसका उपयोग आंतरिक घुमावदार सतहों को फाइलिंग करने के लिए किया जाता है। इस फाइल की वक्र सतह पर सिंगल कट दाँते बने होते हैं, फ्लैट फेस पर डबल कट दाँते बने होते हैं। इस फाइल का उपयोग Flat या Curve दोनों प्रकार की सतहों पर फाइलिंग करने के लिए किया जाता है। और आंतरिक वक्र या circular आकार को घिसने के लिए भी किया जाता है।

6. Triangular File (त्रिभुजाकार रेती) :-
त्रिभुजाकार रेती का क्रॉस सेक्शन सम-त्रिभुज याने Triangular आकार का होता है, इसलिए इसे Triangular File कहते है। इस त्रिभुजाकार रेती में तीन समान आकार के आयताकार फलक याने face होते हैं जिन पर सिंगल कट दाँते बने होते हैं। इस रेती का उपयोग किसी job के कॉर्नर को फाइलिंग करना या फिर चौकोर तथा तिकोने खाँचों के कोने को शार्प करने के लिए भी किया जाता है।

7. Knife Edge File (नाइफ-एज रेती) :-
चाकू की धार वाली फाइल में एक तेज त्रिकोण का क्रॉस सेक्शन होता है। इसका उपयोग संकीर्ण खांचे और कोणों को 10 डिग्री से ऊपर फाइलिंग करने के लिए किया जाता है। इस रेती का आकार Knife की काट के समान होता है। इसकी एक भुजा नुकीली होती है। इसके एज का एंगिल 10° होता है। इसके दोनो फेसों पर डबल कट दाँते बने होते हैं।


दाँतों और ग्रेड के आधार पर रेती के प्रकार - Types of file based on teeth and grade


रेती के दाँतों का ग्रेड प्रति सेमी में बने दाँतों की संख्या से दिया जाता है तथा अधिक दाँते प्रति सेमी वाली फाइल फाइन (Fine) तथा कम दाँतो वाली फाइल कोर्स (Course) कहलाती है। ग्रेडों के आधार पर निम्नलिखित प्रकार की रेतियाँ (Files) होती हैं-

1) रफ रेती (Rough File) - 20 से 25 दांते प्रति इंच होती है। यह सबसे ज्यादा बड़े दाँतों वाली फाइल होती है। और इसलिए इस file से ज्यादा से ज्यादा मटेरियल घिसा जा सकता है। इस रफ फाइल का उपयोग soft मटेरियल पर ज्यादा से ज्यादा किया जाता है, क्योंकि हार्ड मटेरियल पर ये फाइल स्लिप होने की संभावना ज्यादा होती है।

2) बास्टर्ड रेती (Bastered File) - इस प्रकार के file tool के दांते 25 से 30 प्रति इंच होते है। यह मध्यम ग्रेड की फाइल होती है। इसका उपयोग हार्ड और सॉफ्ट दोनो प्रकार की धातुओं के लिए किया जाता है। इस फाइल के प्रकार में रफ फाइल से अधिक दांतें कटे होते हैं। 

3) सिंगल कट फाइल (Single cut file) - इस प्रकार की फाइल में दांतें एक दूसरे के समांतर होकर इनके दांतें एकतरफा होते हैं जो की 60° से 80° तक के कोण पर बनाये जाते हैं, सिंगल कट फाइल का उपयोग हार्ड मटेरियल की फाइलिंग या फिनिशिंग के लिए किया जाता है।

4) सेकण्ड कट रेती (Second Cut File) - इस प्रकार की फाइल में दांतें 35 से 40 प्रति इंच होते है। यह एक मध्यम ग्रेड की फाइल है, इसका प्रयोग ज्यादातर फिटर करते है जो की किसी चीज को घसने और फिनिशिंग के लिए होता है।

5) स्मूथ रेती (Smooth File) - इस प्रकार के file tool के दांते 40 से 60 प्रति इंच होते है। यह फाइल सतह से बहुत कम मटेरियल हटाती है, इसलिए इसे स्मूथ और फिनिश कामों के लिए उपयोग में लाया जाता है।

6) डैड स्मूथ रेती (Dead Smooth File) - इस फाइल के दांते 80 से 100 प्रति इंच होती है। इस कारण से ही ये बहुत कम मात्रा में धातु को घिसता है, इसीलिए इसका उपयोग धातु की बहुत ही स्मूथ फिनिशिंग के लिए किया जाता है।

7) सुपर डैड स्मूथ रेती (Super Dead Smooth File) - इस फाइल में 40-65 दाँते प्रति सेमी होते हैं। यह फाइल लम्बाई मे छोटी होती है। इसका उपयोग आप किसी जॉब में सुपर स्मूथ फाइलिंग के लिए या फिर जॉब पर एक प्रकार की चमक लाने के लिए कर सकते हैं। इसके दांते बहुत अधिक पास पास होते हैं और प्रति इंच दांतों की संख्या बहुत अधिक होती है। 


आखिर में बात की जाये तो, File-रेती एक ऐसा औजार याने tool है, जो किसी भी workpiece से अतिरिक्त मटेरियल हटाने के काम आता है। किसी भी जॉब से मटेरियल हटाने के लिए उसके ऊपर रेती को घिसाया जाता है। और अतिरिक्त मटेरियल को Workpiece से हटाया जाता है। इसलिए रेती फिटर का एक मुख्य hand tool होता है। तो दोस्तों ये थी रेती याने Engineering File Tools की जानकारी, आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो हमें comments करके बताये।

1 टिप्पणी: