ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है? | Orthographic Projection in Hindi

0

दोस्तों ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन एक Engineering drawing का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिसमे हम किसीभी ऑब्जेक्ट या वस्तु को त्रि-आयाम(3D) में दिखा सकते है, तो दोस्तों इस पोस्ट में हम Orthographic Projection In Hindi, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है?, Orthographic projection in engineering drawing और ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन के प्रकार, इत्यादी के बारे में पूरी जानकारी जानेंगे।

orthographic projection in hindi, orthographic projection examples, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है, orthographic projection definition, orthographic drawing, orthographic projection drawing, orthographic projection engineering drawing, orthographic projection in engineering drawing, types of projection in engineering drawing, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन,

ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है?

इंजीनियरिंग ड्राइंग में किसी भी दो-आयामी(2D) ऑब्जेक्ट को विभिन्न दिशाओं से त्रि-आयामी(3D) ऑब्जेक्ट में Draw करने की विधि को ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन कहते है। याने यह Orthographic Projection विभिन्न दिशाओं से वस्तु, जॉब या ऑब्जेक्ट को दो-आयाम से त्रि-आयाम में खींचने(Draw) का एक तरीका है।

Orthographic projection drawing को Multiview के रूप में भी जाना जाता है। यह इंजीनियरिंग ड्राइंग का नवीनतम मानक है जहां अलग अलग Planes में अलग अलग Views दिखाए जाते है जो संबंधित रिफरेन्स plane के लंबवत(Perpendicular) होते हैं।

इस ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन ड्राइंग में हम किसी भी ऑब्जेक्ट का Front view, Side view, Top view और Plan view तैयार कर सकते है, ताकि उस ऑब्जेक्ट के ड्राइंग को देखने वाला व्यक्ति उन सभी महत्वपूर्ण दृश्य को देख सके।

orthographic projection in hindi, orthographic projection examples, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है, orthographic projection definition, orthographic drawing, orthographic projection drawing, orthographic projection engineering drawing, orthographic projection in engineering drawing, types of projection in engineering drawing, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन,

Types of Projection Reference Plane In Hindi

प्रोजेक्शन रिफरेन्स प्लेन वह हैं जिन पर किसी ऑब्जेक्ट के अलग-अलग दृश्य को प्रस्तुत किया जाता है। इसमें वस्तु के आकार को उन रिफरेन्स प्लेन पर वास्तविक आकार के रूप में प्रक्षेपित किया जाता है। इन Reference planes के प्रमुख तीन प्रकार है, जो निचे दिए है:

  • Horizontal Plane
  • Vertical Plane
  • Side/Profile Plane

Types Of Orthographic Projection Views

इंजीनियरिंग ड्राइंग में 6 प्रकार के ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन व्यू का उपयोग किया जाता है, लेकिन मुख्य रूप से तीन Projection Views हैं:

  • Front View (FV)
  • Top View (TV)
  • Side View (SV)

types of projection in engineering drawing, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन, orthographic projection examples, ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है, orthographic projection definition, orthographic drawing, orthographic projection drawing, orthographic projection engineering drawing, orthographic projection in engineering drawing,

Types Of Orthographic Projection Angle

ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन एंगल के चार प्रकार है, जैसे की First angle projection, Second angle projection, Third angle projection और Fourth angle projection. लेकिन इनमे से First angle projection और Third angle projection का अधिकतर उपयोग किया जाता है।

Types Of Orthographic Projection Angle, orthographic drawing, orthographic projection drawing, orthographic projection engineering drawing, orthographic projection in engineering drawing,

अधिक जानकारी के लिए यह पढ़े: First & Third angle projection की पूरी जानकारी.

ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन के प्रकार - Types of Orthographic Projection

ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन के तीन उप-प्रकार होते है: आइसोमेट्रिक प्रोजेक्शन, डिमेट्रिक प्रोजेक्शन और ट्रिमेट्रिक प्रोजेक्शन.

1. Isometric projection

आइसोमेट्रिक प्रोजेक्शन को इंजीनियरिंग ड्राइंग में सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाता है, क्योकि इसके एक ही दृश्य में ऑब्जेक्ट के पुरे Views की पूर्ण जानकारी मिल जाती है। Isometric projection में तीन समपरिमाण Axis होते है जिनमे 120° का कोण होता है, जिससे हमें सीधे ड्राइंग से माप लेने की क्षमता को आसान बनाता है।

2. Dimetric projection

Dimetric projection में देखने की दिशा ऐसी होती है कि, ड्राइंग के तीन अक्षों में से अन्य दो अक्षों का एक अलग स्केल होता है, और तीसरी दिशा का स्केल दो अक्षों की तुलना में अलग से निर्धारित किया जाता है। इसलिए डिमेट्रिक प्रोजेक्शन को किसी वस्तु को खींचने के तरीके के रूप में परिभाषित किया जाता है।

3. Trimetric projection

Trimetric projection के देखने की दिशा में स्पेस के तीनों एक्सिस असमान रूप से पहले से छोटे दिखाई देते हैं, याने तीनों कोणों की लंबाई अलग-अलग डिग्री होती है। इस ट्रिमेट्रिक प्रोजेक्शन को ना के बराबर इस्तेमाल में लिया जाता है।

यह भी पढ़े:
1. Engineering Drawing Symbols List Explain
2. Vernier Caliper की पूरी जानकारी

FAQs For Orthographic Projection

1. इंजीनियरिंग ड्राइंग में ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है?

इंजीनियरिंग ड्राइंग में ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन किसीभी ऑब्जेक्ट या वस्तु के दो-आयामी दृश्य को त्रि-आयाम याने 3D में दिखा सकता है, इस Orthographic Projection को मल्टीव्यू के रूप में भी जाना जाता है।

2. ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन के कितने प्रकार हैं?

ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन के तीन प्रकार होते है जैसे की, Isometric projection, Dimetric projection और Trimetric projection.

3. प्रोजेक्शन एंगल के कितने प्रकार होते है?

ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन एंगल के कुल चार प्रकार है, जैसे की First angle projection, Second angle projection, Third angle projection और Fourth angle projection.

4. प्रोजेक्शन रिफरेन्स में कितने प्लेन होते है?

प्रोजेक्शन रिफरेन्स में मुख्यतः तीन प्लेन होते है: Horizontal Plane, Vertical Plane और Side/Profile Plane.

5. प्रोजेक्शन के कितने प्रकार होते है?

प्रोजेक्शन याने प्रक्षेप के दो प्रकार हैं: Pictorial Projection (चित्रीय प्रक्षेप) और Orthographic Projection (लम्बकोणीय प्रक्षेप).

6. रेखा के कितने प्रकार होते है?

रेखा याने Line के मुख्य तीन प्रकार होते है: Straight Line (सरल रेखा), Curved Line (वक्र रेखा), Parallel Lines (समानान्तर रेखाएँ) इत्यादी।

तो दोस्तों यह थी ऑर्थोग्राफिक प्रोजेक्शन क्या है? - Orthographic Projection in Hindi की जानकारी, जिससे आपको Engineering drawing या Technical drawing में बहुत सहायता होंगी, आशा करते है की आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होंगी, कृपया आपके सुझाव हमें कमेन्ट करके दे ताकि हम इससे और बेहतर कर सके।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
Post a Comment (0)