What is lifi technology - Li-Fi क्या है - Li Fi का उपयोग कैसे करे

दोस्तों आज हम इस पोस्ट में Li-Fi के बारे में जानेंगे, की What is Li-Fi, Li-Fi क्या है और कैसे काम करता है। Li-Fi full form, how Li-Fi works, Advantages of Li-Fi, Disadvantages of Li-Fi, वाईफाई और Li-Fi के बीच का अंतर - difference between Li-Fi and Wi-Fi in Hindi, Li-Fi technology, इत्यादि के बारे में जानेंगे। 

Li-Fi Technology यह एक high-speed network technology है, जिसका उपयोग data transmission के लिए किया जाता है। इसमे Visible Light Communication use करके data को transfer किया जाता है। जैसे Wi-Fi technology work करता है वैसे ही Li-Fi network भी काम करता है।

What is Li-Fi Technology - How does lifi work in Hindi - What is Li-Fi - How to use lifi in hindi


Li-Fi क्या है? - Li-Fi history

दोस्तों Li-Fi technology यह एक wireless technology है जो light यानि प्रकाश का उपयोग करके data को transfer करती है। इस technology का आविष्कार University of Edinburgh के Professor Harald Haas जो pure lifi के co-founder है। इन्होंने सन 2011 में Li-Fi network का आविष्कार किया था।

Full form of li-fi

lifi का full form " Light Fidelity " यह होता है।

इसका उपयोग data transmission के लिए किया जाता है, जो एक wireless optical network technology है। Li-Fi यह Wi-Fi से भी तेज गति से data को transfer करने का काम करती है। Li-Fi में Light Emitting Diodes यानि LED का उपयोग करके data transfer किया जाता है।

How Does Li-Fi Work - Li-Fi कैसे काम करता है

How Li-Fi Works in Hindi - Li-Fi में data transfer करने के लिए visible light का उपयोग करते है। यह विज़िबल लाइट कम्युनिकेशन के आधार पर काम करता है। जैसे TV का रिमोट काम करता है वैसे ही Li-Fi work करता है।

Wifi और Li-Fi यह दोनों भी data transmission का ही काम करते है। लेकिन Wi-Fi में Radio router का उपयोग करके data भेजा जाता है। और Li-Fi में डाटा को भेजने के लिए light का उपयोग होता है। लेकिन यह Wi-Fi से भी ज्यादा तेज़ी से और कम समय में data transfer करता है।

Lamp Driver, Led Lamp और Photo Detector इन तीन components का उपयोग Li-Fi technology में किया जाता है। lamp driver से Internet source connect रहता है। लैंप ड्राइवर led bulb के अंदर इंटरनेट केबल्स से आने वाली information या data को संचारित यानि transmit करता है।

जो Light Led bulb में आती है वह photo dectector से टकराती है और उसके बाद आसानी से photo dectector में जो changes होते है उसे पहचानता है। और फिर उसके बाद photo dectector light सिग्नल्स को बाइनरी डाटा में कन्वर्ट करता है। उसकी प्रोसेस होने के लिए किसी device जैसे की mobile, computer etc पर भेजता है। और process पूरी होने के बाद आप आसानी से कोई data देख सकते है।




How to use Li-Fi Network - Li-Fi का उपयोग कैसे करे 

Li-Fi technology में एक Led bulb होता है जिसकी मदद से data transfer किया जाता है। led light का इस्तेमाल करके आप data को transfer कर सकते है। लेकिन आप इसका उपयोग तब कर सकते है जब led light on रहे क्योंकि bulb की range जहा तक है वहा तक ही आप Li-Fi use कर सकते है।

Computer, Mobile या कोई अन्य device में Internet चलाने के लिए आप Li-Fi network use कर सकते है। और एक device से दुसरे डिवाइस में data send-receive कर सकते है। रेंज को बढ़ाने के लिए Li-Fi led bulb लगे होते है, जो अपनी light spot से पुरे एरिया, ऑफिस, घर को cover कर लेते है। लेकिन Li-Fi का उपयोग करने के लिए आपको हमेशा Li-Fi led bulb on रखना पड़ता है।

Advantages and Disadvantages of Li-Fi Technology

दोस्तों data transmission के लिए Li-Fi का इस्तेमाल होता है। data भेजने के लिए Li-Fi का उपयोग करने पर बहुत से फ़ायदे होते है तो कुछ नुकसान भी देखने को मिलते है। तो आगे हम लाय-फाय के फ़ायदे के बारे में जानते है।

Advantages of Li-Fi - लाय-फाय के फ़ायदे

1) Li-Fi यह wifi से भी कम समय और ज्यादा तेज गति से data को transfer करने काम करता है।

2) इस technology का उपयोग करने के लिए हमेशा Led bulb on रखना होता है।

3) लाय-फाय नेटवर्क के जरिये high speed से data send - receive कर सकते है।

4) अगर आप Li-Fi network use करते है तो आपका network बहुत सुरक्षित रहता है। इसमे बाहर का कोई भी व्यक्ति आपके network को access नही कर सकता है, क्योंकि इसमे light दीवारों के दूसरी तरफ़ नही जा सकती।

5) Wi-Fi में एक से ज्यादा device जुड़ने पर इंटरनेट की गति कम होती है लेकिन lifi से एक से ज्यादा device connect करने पर ही Internet की speed में कोई फ़र्क नही पड़ता है।

Disadvantages of Li-Fi

लाय-फाय के नुकसान - दोस्तों नीचे हम Li-Fi use करने से क्या नुकसान होते है यह जानते है।

1) Li-Fi technology को use करने के लिए Li-Fi led bulb को हमेशा on रखना होता है इसकी वजह से ज्यादा power लगती है।

2) Li-Fi यह एक महँगी टेक्नोलॉजी है।

3) आप इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल सिर्फ़ घर, ऑफिस या वहा तक ही कर सकते है जहा led bulb लगे हुए होते है। क्योंकि इसमे lifi light की range limited होती है।


वाईफाई और Li-Fi के बीच का अंतर 

Difference between Li-Fi & Wi-Fi in Hindi - दोस्तों Li-Fi और Wi-Fi यह दोनों भी data transfer करने के ही काम करते है। लेकिन इन दोनों technology में बहुत अंतर है। तो आगे हम वाईफाई और Li-Fi के बीच का अंतर इसके बारे में जानते है।

1) Radio Waves के माध्यम से Wi-Fi में data transfer किया जाता है। और Li-Fi में data भेजने के लिए led light use किया जाता है।

2) Li-Fi में 1Gbps की speed से 10 meters की दूरी पर data transfer होता है।

3) Wi-Fi में 32 meters की दूरी पर 150 Mbps की speed से data को send - receive किया जाता है।

4) Li-Fi technology में Lamp Driver, Led Lamp और Photo Detector इन components का उपयोग होता है।

5) Wi-Fi network में wireless router यह components होता है।

6) लाई-फाई network में data transmission बहुत secure रहता है, क्योंकि इसमें led light दीवारों के दूसरी तरफ़ नही जा सकती। और Wi-Fi में network on रहने के कारण data ट्रांसमिशन सिक्योर नही रह सकता है।

तो दोस्तों आपको Li-Fi क्या है और कैसे काम करता है, Li-Fi और Wi-Fi में क्या अंतर है। Advantages of Li-Fi - Disadvantages of Li-Fi, How does Li-Fi Work, Li-Fi का उपयोग कैसे करे, इन सब के बारे में काफी जानकारी मिली होंगी।


तो उम्मीद करते है की आपको " Li-Fi क्या है और कैसे काम करता है - Li-Fi history " यह पोस्ट पसंद आयी होंगी। दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी तो हमे comments करके बताये और अपने दोस्तों में जरुर share करे।

No comments