Types of Computer in hindi | कंप्यूटर के प्रकार की पूरी जानकारी

दोस्तों आज के आर्टिकल में हम What is Computer, Types of Computer in Hindi और कंप्यूटर की पूरी जानकारी के बारे में जानेंगे। दोस्तों आधुनिक युग में Computer का सबसे ज्यादा उपयोग हो रहा है, कंप्यूटर एक Electronic device है जो की data को input करके और उनको process करके meaningful output information produce करता है।

Computer के कई प्रकार होते है, Computer के प्रकार को तीन आधारों पर विभाजित कर दिया गया है। जैसे कार्यप्रणाली के आधार पर, उद्देश के आधार पर और आकार के आधार पर। तो दोस्तों आज हम Computer के प्रकार के बारें में विस्तारित रूप जानेंगे।

Types of Computer in hindi  - कंप्यूटर के प्रकार की पूरी जानकारी


Computer के प्रकार (Types of  Computer)

कंप्यूटर के प्रकार दो विभाजनो के आधार पर किया जाता है एक है कार्यप्रणाली के आधार पर (based on Mechanism) और और दूसरा उद्देश के आधार पर (based on Purpose) होता है।

कार्यप्रणाली के आधार पर (based on Mechanism)

कार्यप्रणाली के आधार पर Computer के "एनालॉग", " डिजिटल ", " हायब्रिड " ये तीन प्रकार होते है। इन कंप्यूटर के प्रकार की पूरी जानकारी सविस्तर रूप में नीचे दी गयी है।

1) Analog Computer :- 

एनालॉग कंप्यूटर ऐसा कंप्यूटर है जिसका उपयोग ज्यादातर विज्ञान और इंजीनियरिंग क्षेत्रों में किया जाता है। यह कंप्यूटर भौतिक मात्राओं को नापने का काम करता है।

जैसे की दाब, तापमान, गति, लम्बाई, उचाई, प्रतिरोध इत्यादि का मापन करके उनके परिमाप अंकों में व्यक्त करते है। ये Computer किसी भी राशी का मापन तुलना के आधार पर करते है जैसे की थर्मामीटर।

थर्मामीटर गणना नही करता बल्कि संबंधित प्रसार (Relative Expansion)  की तुलना करके शरीर के तापमान को मापता है।

2) Digital Computer :-

Digit याने अंक। डिजिटल कंप्यूटर अंकों की गणना करता है। इसका उपयोग डिजिट के रूप में किया जाता है जिसे बायनरी नंबर सिस्टम भी कहते है।

डिजिटल कंप्यूटर 0 और 1 पर कार्य करते है। ये कंप्यूटर किसी भी चीज की गणना करने के बाद How Many के आधार पर जवाब देते है। इस कंप्यूटर का उपयोग व्यापार चलाने के लिए, घर का बजेट तैयार करने लिए, और साथ ही साथ शिक्षा, मनोरंजन इत्यादि में भी करते है।

3) Hybrid Computer :-

हायब्रिड कंप्यूटर में एनालॉग कंप्यूटर और डिजिटल कंप्यूटर इन दोनों के गुण होते है यह कंप्यूटर अनेक गुणों से युक्त है इसलिए इसे Hybrid Computer कहते है।

इस कंप्यूटर का उपयोग चिकित्सा में ज्यादा होता है जैसे एनालॉग कंप्यूटर किसी रोगी के तापमान या रक्तचाप को मापता है और बाद में डिजिटल भागों के द्वारा अंक में बदल दिए जाते है। इससे रोगी के स्वास्थ्य के बारे सही पता चलता है।



ये भी पढ़े :-What is RAM & ROM in computer ? meaning of RAM and ROM in Hindi 

उद्देश के आधार पर (based on Purpose) 

उद्देश के आधार पर " सामान्य उद्देश कंप्यूटर " और " विशिष्ठ उद्देश कंप्यूटर " ये दो प्रकार के कंप्यूटर होते है। इनका विवरण नीचे दिया गया है।

1) General Purpose Computer :- 

जनरल पर्पज कंप्यूटर में अनेक प्रकार के कार्य करने की क्षमता होती है पर ये कार्य सामान्य होते है जैसे word processing से लेटर लिखना, डॉक्यूमेंट तयार करना, डॉक्यूमेंट को print करना आदि।

इन कंप्यूटर में लगे हुवे C.P.U. की क्षमता कम होने के कारन हम इन कंप्यूटर में किसी विशिष्ठ काम के लिए कोई स्पेशल डिवाइस कनेक्ट नही कर सकते। इसलिए इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग सिर्फ सामान्य उद्देश के लिए ही किया जा सकता है।

2) Special Purpose Computer :-

Special Purpose Computer ये ऐसे कंप्यूटर होते है जो किसी विशेष कार्य करने के लिए तयार किये जाते है।

इन कंप्यूटर के CPU की क्षमता जनरल पर्पज कंप्यूटर के C.P.U. से अधिक ज्यादा होती है। इन कंप्यूटर का उपयोग अंतरिक्ष विज्ञान, मौसम विज्ञान, अनुसंधान एवं शोध, कृषि विज्ञान, चिकित्सा, इंजीनियरिंग इन क्षेत्रों में किया जाता है।


आकार के आधार पर - classification of computer according to size :- 

कंप्यूटर के आकार के आधार पर " माइक्रो कंप्यूटर ", " मिनी कंप्यूटर ", " मेनफ्रेम कंप्यूटर " और " सुपर कंप्यूटर " ये चार प्रकार होते है। इन प्रकारों का विश्लेषन नीचे दिया गया है।

1) Micro Computer :- 

सन 1970 में Micro Computer का विकास हुआ था। यह कंप्यूटर आकार में छोटे होते है और ये कंप्यूटर एक डेस्क पर या ब्रिफकेश में भी रख सकते है इन छोटे कंप्यूटर को Micro Computer कहते है।

इन कंप्यूटर का उपयोग पर्सनल काम के लिए भी किया जाता है इसलिए इस कंप्यूटर को व्यक्तिगत कंप्यूटर या Personal Computer भी कहा जाता है।

Micro Computer एक डिजिटल कंप्यूटर है, जो माइक्रो प्रोसेस पर काम करता है। छोटे-बड़े व्यापार में Micro Computer का बहुत महत्व होता है। 

इस कंप्यूटर का उपयोग बड़े व्यापार में वर्ड प्रोसेसिंग और फाइलिंग प्रणाली के लिए किया जाता है और छोटे व्यापार में Accounting के लिए किया जाता है और साथ ही साथ इसका उपयोग मनोरंजन के लिए भी किया जा सकता है।

2) Mini Computer :- 

Mini Computer का आकार माइक्रो कंप्यूटर से बड़ा और मेनफ्रेम कंप्यूटर से छोटा होता है और इस कंप्यूटर की कीमत भी माइक्रो कंप्यूटर से ज्यादा होती है।

यह कंप्यूटर मध्यम आकार के होते है, इसलिए इसे व्यक्तिगत रूप से ख़रीदा नही जा सकता। इस कंप्यूटर में एक से अधिक C.P.U. होते है। मिनी कंप्यूटर की स्पीड मेनफ्रेम कंप्यूटर से कम और माइक्रो कंप्यूटर से अधिक होती है। 

इस कंप्यूटर पर एक ही समय पर एक से ज्यादा लोग काम कर सकते है। Mini Computer का उपयोग बड़ी बड़ी कंपनीओ में, यातायात में यात्रिओं के आरक्षण के लिए, सरकारी ऑफ़िस में, बैंकों में बैंकिंग कार्यो के लिए किया जाता है।

DEC - Digital Equipment Corporation ने 1965 में PDP-8 यह सबसे पहला मिनी कंप्यूटर तयार किया था और इस कंप्यूटर की कीमत 18000 डॉलर थी और वो एक रेफ्रीजरेटर के आकार का था।

3) Mainframe Computer :-

Mainframe Computer की प्रोसेसिंग शक्ति Mini Computer से ज्यादा होती है और ये कंप्यूटर आकार में बड़े होते है। इन कंप्यूटर में अत्याधिक मात्रा में data को तीव्र गति से प्रोसेस करने की क्षमता अधिक होती है।

इसलिए बड़ी बड़ी कंपनियों में, बैंकों में, सरकारी विभागों में Mainframe Computer का उपयोग केंद्रीय कंप्यूटर के रूप में किया जाता है। इस कंप्यूटर पर एक साथ हजारों यूजर्स 24 घंटे अलग अलग कार्य कर सकते है।

Mainframe Computer को एक माइक्रो कंप्यूटर या नेटवर्क से जोड़ा जा सकता है। IBM 4381, ICL 39 Series और CDC Cyber Series ये कुछ मेनफ्रेम कंप्यूटर है।

4) Super Computer :- 

आज उपलब्ध कंप्यूटरों में Super Computer सबसे बड़े, ज्यादा तीव्र क्षमता वाले, अधिक संग्रह क्षमता वाले कंप्यूटर होते है। इसमे कई माइक्रो प्रोसेसर एक साथ काम करते है और किसी भी समस्याओं का तुरंत जवाब देते है।

सुपर कंप्यूटर एक सेकंड में एक अरब गणनाए कर सकता है और मेगा फ़्लॉप से इसकी गति को नापते है। Super Computer आकार में बड़े होते है, और इन्हे ठंडा करने के लिए विशेष व्यवस्था करनी पडती है।

Super Computer में एक से अधिक C.P.U. होते है और इस कंप्यूटर पर एक से अधिक व्यक्ति काम कर सकते है। इन कंप्यूटर का उपयोग मौसम संबंधी अनुसंधान, अंतरिक्ष यात्रा, सैन्य और वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए किया जाता है। " सीडक " इस संस्था ने "PARAM-10000" नाम का सबसे शक्तिशाली सुपर कंप्यूटर बनाया है।


दोस्तों इस पोस्ट में हमने Types of Computer in hindi, कंप्यूटर के प्रकार की पूरी जानकारी के बारे में आपको पूरी जानकारी दी है। तो उम्मीद करते है की आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो अगर इस पोस्ट में आपको कोई डाउट हो तो हमे comment करके बता सकते है।

3 टिप्‍पणियां: