बीमा कितने प्रकार के होते हैं? Types of Insurance in Hindi, बीमा क्या है?

What Is Insurance, Types of Insurance in Hindi, बिमा क्या है और बीमा कितने प्रकार के होते हैं?: आज हम बात करेंगे Insurance के बारे में, बीमा आज के समय में बहुत ही काम की और भविष्य में मदद करनेवाली चीज है। किसी भी व्यक्ति की दुखद घटना के बाद इन्शुरन्स कंपनी उन्हें मदद करती है और हर किसी के जीवन में बीमा यह बहुत ही आवश्यक होता है।

बीमा कितने प्रकार के होते हैं? Types of Insurance in Hindi, बीमा क्या है?

आप अपने जीवन में आने वाले सारे समस्याओं का समाधान Insurance के जरिये कर सकते है। तो दोस्तों बीमा क्या होता है, बीमा के कितने प्रकार है और इसके क्या लाभ है? इन सब की जानकारी आज हम इस पोस्ट में आपको बतायेंगे।

बिमा क्या है? - What Is Insurance Hindi?

Insurance को हिंदी में बिमा कहते है। बिमा यह शब्द फारसी से आया है इसका अर्थ है 'ज़िम्मेदारी लेना'। इसका अनुवाद डॉ. रघुवीर ने 'आगोप' ऐसा किया है। इसका अंग्रेजी पर्याय "इंश्योरेंस" (Insurance) है।

बिमा या Insurance ये भविष्य के लिए एक ऐसी व्यवस्था है की, जिसमे कोई भी बिमा कंपनी आपको किसी भी प्रकार का नुकसान होने का, बीमारी का, दुर्घटना या मृत्यु के बाद मुआवजा देने की गारंटी देती है।

आज के इस भीड़ भाड़ वाले जीवन में किसे कब क्या होगा यह कोई नही जानता, ऐसे में आप अपने मूल्यवान चीजों का अभी सही तरीके से Insurance करेंगे तो आपके लिए वो एक Backup के जैसे काम करेंगा और मुसीबत आने पर Insurance आपके बहुत काम आयेगा।

वैसे बाजार में ऐसी बहुत सी insurance कंपनियां है, जो इंश्युरंस बेचती है और उन सब के insurance plan की एक अलग ख़ासियत होती है लेकिन आपको सोच समझकर policy लेनी चाहिए जब आपके ज़रूरतों के मुताबिक़ आपको वो सही लगे और बाद में आपको कीसी प्रकार की परेशानी ना हो। जैसे car, home, health, life आमतौर पर इन मूल्यवान चीजों का Insurance कराया जाता है।

Insurance एक Safe और Secure तरीका है, जो आपके आर्थिक स्थिति में आपके परिवार और आप पर निर्भर व्यक्ति को मजबूत बना सकता हैं, ताकि भविष्‍य में आपकी मृत्‍यु हो जाती है या किसी अन्य घटनाओं से आपका कोई नुकसान भी हो जाता है, तो उस वक्त आपको या आपके परिवार को पैसों से सम्‍बन्धित किसी भी प्रकार की समस्‍या का सामना नहीं करना पड़ता, Insurance Policies से आपकी समस्या दूर हो जाती है इसलिए Insurance होना आज बहुत ही जरूरी हुआ है।

बिमा के प्रकार - Types of Insurance in Hindi

Insurance या बिमा अलग अलग प्रकार के होते है जैसे Life Insurance, Home Insurance, Health Insurance, Vehicle Insurance, Travel Insurance, Crop & Farmer Insurance और Mobile Insurance आदि। तो हम Types of Insurance याने बीमा कितने प्रकार के होते हैं? और बीमा के लाभ के बारे में जानेंगे।

1. Life Insurance - जीवन बिमा

Life Insurance याने जीवन बिमा, Insurance Company और बिमा लेने वाले व्यक्ति के बिच किया जानेवाला Life Insurance एक प्रकार का Agreement होता है, जिसमे इश्युरंस कंपनी यह गारंटी देती है की भविष्य में Policy Holder की मृत्‍यु हो जाती है, तो उसके परिवार में से Nominee को Insurance Company द्वारा Terms and Condition के अनुसार एक निश्चित राशि का भुगतान किया जाएगा ताकि उन्हें कोई आर्थिक संकट ना आये, लेकिन ये राशि उतनी ही दी जाती जितने उस व्‍यक्तिने बीमा करवाया था।

यह जीवन बिमा इस बात पर निर्भर करता है की उस व्यक्ति की मृत्यु कब हुई, कैसे और किस वजह से हुई। किसी के जीवन का कोई भरोसा नहीं होता इसलिए लोग खासकर अपने परिवारों के लिए ही Life Insurance Policy छोड़ जाते है। ज्यादातर लोग Life Insurance Policy इस बिमा को अपनाते है ताकि उनके जाने के बाद उनके परिवार के लोगो को पैसों की कुछ मदद हो जाये।

जीवन बीमा के प्रकार - Types of Life Insurance in Hindi

  • टर्म इन्शोरंस (Term Insurance)
  • एंडोमेंट प्लान (Endowment Plan)
  • यूलिप (ULIP Unit Linked Insurance Plans)
  • मनी बैक पॉलिसी (Money Back Policy)

2. Home Insurance - घर का बिमा

आप अपनी मेहनत की कमाई से घर बनवाते है तो आपको घर का बिमा या home Insurance भी कर लेना चाहिए। Home Insurance में घर का Structure, घर का सामान इन सब के अनुसार एक policy बनवायी जाती है, अगर अचानक से कोई दुर्घटना हो जाने पर जैसे भूकंप, बाढ, या घर के सामान खराब हो जाने पर इसकी सारी भरपाई बिमा कंपनी से कर दी जाती है।

आज बहुत से लोग अपने घर का बिमा निकालते है जिसके जरिये वो अपने घर को सुरक्षित रख सकते है इसलिए Home Insurance करना बहुत जरूरी और आवश्यक हुआ है।

3. Medical & Health Insurance - स्वास्थ्य बिमा

Health Insurance या स्वास्थ्य बिमा यह एक तरह की बिमा सेवा है जिसमे एक कोई भी व्यक्ति अपने medical और सर्जिकल खर्चों को नियोजित कर सकता है और कई आर्थिक संस्था द्वारा इनके लिए विभिन्न प्रकार की योजनायें होती है।

हर किसी को Medical & Health Insurance करवाना चाहिए क्योंकि बिमा लेने वाले व्यक्ति को उसके स्वास्थ्य के सभी इलाज के लिए यह सुविधा दी जाती है। लेकिन यह सब सुविधा वही Insurance Company देती है जहा बीमाकृत व्यक्ति ने उनकी policy ली होती है और उसकी बीमारियों में दवाइयों का ख़र्चा, ऑपरेशन का ख़र्चा और अस्पताल का खर्चा इत्यादि को प्रदान करती है।

आजकल किसी को कब क्या होगा, किसी की कब तबियत ख़राब हो जाएगी यह कोई नही जानता ऐसे में Health Insurance Policy की बहुत आवश्यकता होती है और इस समय में यह policy बहुत काम आती है।

4. Personal Accident Insurance - दुर्घटना बीमा

दुर्घटना बीमा योजना या Accidental Policy में भी आप एक तय किया हुआ मूल्य जमा करके, पॉलिसी किये हुए व्यक्ति को दुर्घटना या कोई विकलांग हो जाने पर पॉलिसी के Terms & Condition के अनुसार अस्पताल में भर्ती हो जाने पर कुछ पैसे या राशी दी जाती है।

Accidental Policy में एक सबसे बड़ा फायदा यह होता है की, आपके साथ कोई भी दुर्घटना हो जाने पर आपको किसी भी प्रकार का खर्च नहीं उठाना पड़ता। जिस Insurance Policy कंपनी में अपने Insurance करवाया है वही कंपनी आपका सारा खर्चा उठाती है। इसलिए यह बिमा होना बहुत आवश्यक है। अलग अलग इन्शुरन्स पॉलिसी के अलग अलग नियम और शर्ते होती है उन्हें पढकर ही बिमा या insurance कर लेना चाहिए।

5. Vehicle Insurance - वाहन बिमा

यदि आपके पास car, bike, motor, auto या कोई भी गाड़ी है, तो उसका Insurance करवाना बहुत जरूरी है क्योंकि किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर हमे आर्थिक नुकसान से बचाता है, इसलिए Vehicle Insurance करवाना बहुत आवश्यक है।

भारत में दो प्रकार के Vehicle Insurance होते है: a) Third party insurance b) Full party insurance

A. Third party insurance: इस प्रकार के इन्शुरन्स में यदि आपके पास जो भी वाहन है उस वाहन से दुर्घटना हो जाती है और उसी समय दूसरे गाड़ी के ड्राइवर या गाड़ी का नुकसान हो जाता है तो उन्हें Insurance company भरपाई करके देती है। 

लेकिन आपको या फिर आपकी गाड़ी का नुकसान होने पर इन्शुरन्स कंपनी किसी तरह का क्लेम नही देती, इसलिए इसे थर्ड पार्टी इन्शुरन्स भी कहते है। मोटर अधिनियम के अनुसार यह बिमा अनिवार्य है।

B. Full party insurance: इस प्रकार के इन्शुरन्स में एक्सीडेंट होने पर सभी का नुकसान जैसे गाड़ी, ड्राइवर, और गाड़ी में बैठे वाले लोग और दूसरे गाड़ी का नुकसान जैसे छोटी-बड़ी टूट फुट के लिए और बाकी नुकसान की भरपाई इन्शुरन्स कंपनी देती है। full party insurance को Standard motor insurance भी कहते है।

6. Crop & Farmer insurance - फसल किसान बीमा योजना

दोस्तों मौसम का कुछ भरोसा नही किया जाता कभी बारिश आती है तो कभी नही भी आती इसकी वजह से आपकी खेती का बहुत नुकसान भी हो जाता है तो ऐसे में आपको हर साल अपने फसल का बिमा कर लेना चाहिये।

इस बिमा में आपकी फसल को एक प्रकार की सुरक्षा मिल जाती है, अगर आपके फसल का कुछ नुकसान होता है, तो ऐसे में insurance company आपके सारे नुकसान की भरपाई करती है, इसलिए आप अगर किसान हो तो आपको Crop Insurance और Farmer Insurance जरुर करना चाहिए।

7. Travel Insurance - यात्रा बिमा

कभी आप अकेले या अपने परिवार के साथ travel कर रहे हो, तो ऐसे में आपका Travel Insurance या यात्रा बिमा करना बहुत ही आवश्यक है।

अगर आपको कभी ट्रेवल करना है, तो घर से निकलने से पहले ही सबकुछ प्लान करके निकलना चाहिए, ताकि यात्रा के दौरान आने वाले परेशानियों से आपको ना गुजरना हो। अगर आप अकेले से कुछ मैनेज नहीं हो पाता, तो ऐसे वक्त में आप Travel Insurance को अपना सकते हो।

और एक बात यह है की, यात्रा के दौरान कोई दुर्घटना हो जाने पर, या फिर यात्रा में देरी होना जैसे की फ्लाईट डिले होना, फ्लाईट कैंसल होना ऐसे में Travel Insurance आपके हुए नुकसान का पूरा खर्चा उठाती है, इसलिए Travel Insurance या यात्रा बिमा होना बहुत ही जरूरी है।

8. Mobile Insurance - मोबाइल बिमा

आज सब के पास मोबाइल फोन है, तो आपने यह भी सुना होगा की Mobile का भी Insurance करना जरूरी होता है। आज हर किसी के पास एक से बढ़कर एक मेहेंगे मेहेंगे मोबाइल है और यदि आपके मोबाइल फोन का कभी कुछ छोटा बड़ा नुकसान हो जाता है, तो ऐसे में insurance company आपको उसकी सारी भरपाई करके देती है, इसलिए Mobile Insurance करना भी बहुत आवश्यक हुआ है।

यह भी पढ़े:
म्यूचुअल फंड की जानकारी - Mutual Fund in Hindi
शेयर मार्केट की जानकारी - What is Share Market in Hindi

तो दोस्तों आशा करते है, की आपको "बीमा क्या है?, बीमा कितने प्रकार के होते हैं?, बीमा के लाभ, What Is Insurance in Hindi, Types of Insurance in Hindi" यह पोस्ट अच्छी लगी हो या फिर इस पोस्ट के बारे ओर कुछ बाते आप जानते हो तो आप हमे कमेंट्स करके बता सकते है।

2 comments:

  1. Here you have given very helpful information, which we will definitely benefit from. thanks, nice post

    ReplyDelete
  2. Excellent article. Very interesting to read. I really love to read such a nice article. Thanks! keep rocking. Dread Disease

    ReplyDelete