Types of Bank Accounts - बैंक खातों के प्रकार, Types of Account in Hindi

हम इस पोस्ट में Type of Bank Account in Hindi याने भारत में बैंक खातों के प्रकार और बैंक खातों के नियम इसके बारे में जानेंगे। लोग अपनी मेहनत से कमाये हुए पैसों को सुरक्षित रखने के लिए बैंक में अपना एक अकाउंट ओपन करके और उन खातों में अपने पैसों को जमा करके रखते है। आप किसी भी Bank में अपना bank account ओपन कर सकते है। तो दोस्तों आगे हम बैंक अकाउंट के प्रकार को पूरी तरह से जानेंगे।

बैंक खातों के प्रकार, type of account in hindi, types of accounts in hindi, account type in hindi, अकाउंट के प्रकार, account ke prakar, types of bank accounts in India in hindi,

बैंक खातों के प्रकार - Types of Bank Accounts in Hindi

हमें एक सवाल आता है की, How many types of bank accounts?. तो दोस्तों बैंक में different types of bank accounts होते है। इनमे मुख्यतः Bank Account चार प्रकार के होते है। इन चारों खातों के प्रकार की अपनी अलग जरूरतें और विशेषताये होती है।

बैंक अकाउंट के प्रकार - Account Type in Hindi: Current Account, Saving Account, Recurring Deposit Account और Fixed Deposit Account यह bank account के चार प्रकार है और इनका पूरा विश्लेषण नीचे दिया गया है।

1. Current Account in Hindi - चालू खाता

Current Account या चालू खाता खोलने के लिए आपको हमेशा अपने खाते में एक तय की हुई राशि या amount को रखना पड़ता है ताकि आपका अकाउंट बंद ना हो।

ज्यादातर Current Account या चालू खाता मुख्यतः व्यवसाय, फार्म या कंपनी इनके काम के लिए ही चालू किया जाता है। करंट अकाउंट में आपको सेविंग अकाउंट की तरह ब्याज नही मिलता।

Current Account तरह के खाते में आपको Transfer, Direct Debits, Bank Overdraft, Internet Banking ऐसी कई तरह की सुविधा मिलती है और आप इस account में दिन में जितनी बार चाहे उतनी बार Amount को Deposit और Withdrawal कर सकते है इसकी कोई लिमिट नही है।

लेकिन आपको इस प्रकार के अकाउंट में अपने जमा किये राशि या अमाउंट पर किसी भी प्रकार का Interest या व्याज नहीं मिलता है, बल्कि आपको Commercial Services और Facilities Provide करने के लिए bank आपसे charges जरुर लेती है।

2. Saving Account in Hindi - बचत खाते की जानकारी और बचत खाता के नियम

Saving Account या बचत खाता नाम से ही स्पष्ट है, की यह खाता बचत या Saving करने के लिए बना गया है। Saving account ओपन करने के लिए आपको bank में एक तय की हुई राशि जमा करनी पडती है, ताकि आपका अकाउंट ओपन हो जाये। वह अमाउंट 100 से 1000 रुपए तक हो सकती है, और यह amount आपको हमेशा के लिए account में रखनी पडती है।

कोई भी व्यक्ति अपने पर्सनल काम के लिए Saving Account ही ओपन करता है। इसमे आप दिन में 5 फ्री लेन देन कर सकते है लेकिन 5 से ज्यादा लेन देन हुआ तो आपको कुछ शुल्क देना पड़ता है। (हर बैंक के लिए यह लेन देन के नियम विभिन्न हो सकते है)

Current Account या चालू खाते में आपको आपके जमा किये राशि या amount पर ब्याज नही मिलता लेकिन आपको saving account खोलने से एक यह फायदा होता है की, इसमे आपको ब्याज मिलता है और RBI ने यह व्याज दर पहले 4% निर्धारित किया था,

लेकिन बाद में RBI ने सभी banks को अपना ब्याज दर निर्धारित करने के लिए छूट दी है, लेकिन अभी भी सभी पब्लिक सेक्टर बैंक 4% से ब्याज देते है परंतु कुछ private bank 6 से 7% तक आपको जमा राशि पर interest या ब्याज देते है, लेकिन उन बैंक की भी कुछ शर्तें होती है जैसा की आपके saving account में मिनिमम 1 लाख रूपये होने चाहिए।

बचत खाता या saving account में आप कभी भी अपने जमा किये पैसों को बैंक से निकाल सकते है या डाल सकते हैं, लेकिन amount जमा करने के लिए कुछ भी restriction नहीं पर बैंक से पैसे निकालने की संख्या में कुछ प्रतिबंध जरुर हैं,

जैसे की आप 50 रूपये से कम पैसे नहीं निकाल सकते और एक बात यह है की ATM से भी आप 6 महीने के अंदर 30 से कई बार amount या पैसे नही निकाल सकते। जैसा चालू खाते में आप कभी भी जितने चाहे उतने पैसे निकाल सकते पर saving account में ऐसा नही होता।

Saving Account ओपन करने पर आपको Cheque book, Internet banking, Mobile banking और Debit card  जैसी बहुत सी सुविधाएँ उपलब्ध की जाती है ताकि आपकी बैंक से जुड़ीं सारी जरूरते और आवश्यकताएं पूरी हो जाये।

ये भी पढ़े: What is Insurance? Types of Insurance in Hindi

3. Recurring Deposit Account in hindi - आवर्ती जमा खाता

अगर आप एक निश्चित राशी या अमाउंट नियमित रूप से बचत के लिए जमा करना चाह्ते है, तो आप Recurring Deposit Account या आवर्ती जमा खाता इसका उपयोग कर सकते है।

Recurring Deposit Account यह अकाउंट RD के नाम से भी जाना जाता है। RD यह अपने पैसों को saving करने की एक ऐसी स्कीम है जिसमे आप हर महीने एक तय की हुई राशी या amount जमा कर सकते है और आपने जमा की हुई राशी के साथ आपको एक निर्धारित व्याज दर से उस राशी पर व्याज भी मिलता है।

जैसा की आपने 2 साल के लिए RD Account ओपन किया है और आप उसमे हर महीने 2000 रूपये जमा करते है और आपके RD के 2 साल complete हो जाने पर आपको हर महीने जमा की हुई राशी या amount के साथ उसका निर्धारित व्याज भी मिलता है।

नॉर्मली इसका ब्याज दर 6% से 9% तक होता है और आपको एक बात ध्यान रखनी चाहिए की RD का ब्याज दर कालावधि के साथ बदलता रहता है।

जब आप RD करवाते है तो आपको यह चेक करना चाहिए की आपको कितने समय की RD में कितना व्याज मिल रहा है। ज्यादातर Recurring Deposit का ब्याज दर Fixed Deposit के बराबर रहता है।

Recurring Deposit Account उन लोगो के फायदे के लिए होता है, जिनकी हर महीने Regular Interval पर कमाई होती रहती है, या फिर उन्हें सैलरी मिलती है, और वह अपनी कमाई में से कुछ पैसा बचाना चाहते है। तो ऐसे में वो कुछ महीने या कुछ साल के लिए अपना एक RD account ओपन करते है और उनमे हर महीने एक तय की हुई amount या राशी जमा करते है।

RD account के जरिये कुछ लोग एक लम्बे समय के लिए बड़ी amount इस खाते में जमा करते है, ताकि उन्हें आगे चलकर उन पैसों की जरूरत पड़े। लेकिन Recurring Deposit Account ओपन करने के लिए मिनिमम या मैक्सिमम amount यह bank पर निर्भर करता है।

कुछ bank में कम से कम 100 रूपये पर भी RD अकांउट ओपन होता है, या कुछ bank में 500 रूपये भी लग सकते है, लेकिन कुछ बैंक ऐसी भी होती है जो 10 रूपये से भी account open कर देता है। RD account का कालावधि किमान 6 महीने और ज्यादा से ज्यादा 10 साल का होता है।

Recurring account में आप समय पूरा होने के पहले भी अपने पैसे निकाल सकते है, पर ऐसा करने पर आपको उस समय दिए गये व्याज में कमी हो सकती है और उसके लिए आपको बैंक में एक निश्चित राशी की जुर्माना भी देना पड़ता है।

4. Fixed Deposit Account - सावधि जमा खाता

भारत में सभी bank जैसे SBI, BoI, PNB, ICICI Bank, BoB, Canara Bank यह 7 दिन से लेकर 10 साल की अवधि के लिए Fixed Deposit की Scheme Provide करते हैं।

Fixed Deposit Account को FD, Term Deposit, Bond या मियादी जमा खाता भी कहते है। Fixed Deposit Account या सावधि जमा खाते में एक निश्चित कालावधि के लिए एक विशेष amount या राशी जमा की जाती है। RD अकाउंट की तरह आप इस खाते में से समय के पहले पैसे नही निकाल सकते।

Fixed Deposit Account (सावधि जमा खाता) में आप एक बार ही पैसा जमा कर सकते है और एक ही बार निकाल सकते है। अगर आप कालावधि पूरा होने के पहले बैंक से पैसे निकालते है, तो आपको bank को penalty देनी पड़ती है। और हर bank की तय की गयी penalty amount याने जुर्माना राशी अलग अलग रहती है और इससे आपका account हमेशा के लिए बंद भी हो सकता है।

Bank द्वारा ऐसे account पर सर्वाधिक ब्याज दिया जाता है, अगर आपके पास ज्यादा savings है, और आप उसका कुछ लम्बे समय के लिए उपयोग भी नही करना चाहते, तो ऐसे समय में आप उस राशी को fixed deposit कर सकते है। और उस राशी पर जो व्याज मिलेगा वो आप हर महीने बैंक से निकाल सकते है, या फिर कालावधि पूरा होने के बाद जमा की हुई राशी के साथ भी निकाल सकते है।

Types of Bank Accounts - बैंक खातों के प्रकार - Types of Account in Hindi: दोस्तों उम्मीद करते है की आपको Current Account, Saving Account, Recurring Deposit Account और Fixed Deposit Account यह bank में खातों के चारो प्रकार के बारे में पूरी और सही जानकारी मिली होगी। अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों में शेयर करे और हमे कमेंट्स करके बताये।

2 comments:

  1. Thanks sir your bank knowledge

    ReplyDelete
  2. You have explained very well about different bank accounts. Knowing this post will help people to open bank accounts.

    ReplyDelete