Thursday, May 24, 2018

VMC मशीन के लिए Sub-Program कैसे बनाते है ? Subprogram क्या है?

दोस्तों आज हम बात करेंगे VMC / CNC मशीन के लिए Sub-Program कैसे बनाया जाता है? Subprogram क्या है? और Subprogram के फायदे। दोस्तों vmc मशीन के लिए मेनुअली प्रोग्राम बनाते समय कुछ G code या M code  या Command बार बार रिपीट करना पड़ता है, जिसकी वजह से प्रोग्राम भी बहुत बड़ा होता है और वक्त भी ज्यादा लगता है। और बहुत सी ग़लतियाँ होने की संभावना भी ज्यादा होती है। पर Sub-Program में वही कोड्स एक ही बार डालना पड़ता है और उसे जितना चाहे उतनी बार रिपीट कर सकते है। इस प्रकार के प्रोग्राम द्वारा हम सभी प्रकार के प्रोग्राम बड़ी आसानी से बना सकते है।


इसमे हमें दो प्रोग्राम बनाने पड़ते है, एक Main Program और दूसरा Sub-Program, मेन प्रोग्राम में हमें प्रोग्राम कितनी बार रिपीट करना है वो देना पड़ता है। जीतनी बार हमें प्रोग्राम रिपीट करना है उतनी बार Sub-Program उस प्रोग्राम को कॉल करता है। उदाहरण के तौर पर देखा जाये तो, हमें समझो 10mm मशीनिंग करना है और प्रोग्राम में हमने 0.2 का डेफ्ट ऑफ़ कट दिया है तो, 10mm/0.2 = 50 के हिसाब से 50 बार प्रोग्राम अपने आप रिपीट होता है। जिसकी वजह से आपका काफी सारा वक्त बचता है। इसके लिए एक "P" और "L" code है जो हमें उसका इस्तेमाल करना पड़ता है।

 ये भी पढ़े -
VMC Canned Cycle Program Explain and Formula Explain. 

VMC मशीन के लिए Surface milling Sub-Program कैसे बनाया जाता है?

हमें प्रोग्राम बनाते समय हमें दो महत्वपूर्ण कोड्स का उपयोग करना पड़ता है, एक जो मेन प्रोग्राम से Sub-Program कॉल करने के लिए M98 और Sub-Program में से Return of main program के लिए M99 का इस्तेमाल करना पड़ता है और "P" और "L" code का भी प्रयोग करना पड़ता है।

M98 :- Sub-Program call
M99 :- Return of main program
P :- Program number being call
L :- Number of Repetitions subprogram



VMC मशीन के लिए Sub-Program कैसे बनाते है ?


2D program, vmc subprogram example, cnc milling sub programming examples, fanuc subprogram repeat, sub programming examples

तो दोस्तों हम ऊपर दिए गए ड्रॉइंग के अनुसार उदाहरण के तौर पर एक प्रोग्राम बनायेंगे जिससे आपको बड़ी आसानी से समझ में आयेंगा की sub-program कैसे बनाया जाता है जिसका आप इस्तेमाल अपनी मशीन पर बड़ी आसानी से कर सकते है।

सबसे पहले आपको इस जॉब के सेंटर में एक 15mm या 20mm का drill मारना है, ( जिसकी वजह से आपका कटर जल्दी ख़राब नहीं होंगा ) फिर उसके बाद आप आगे की मशीनिंग प्रोसेस शुरू कर सकते है।

( Deep Hole Drilling Cycle प्रोग्राम के बारेमे पूरी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे )

Main program :-

N1 G00 G90 G54 G17 G40 G49 G80;
N2 G00 X00 Y00 Z100;
N3 M03 S2500 M08;
N4 G01 Z0.0 F1500;
N5 M98 P02 L250;
N6 M05;
N7 M30;

Sub-Program :-

N1 GO1 G91 Z-0.2 F1000;
N2 X-7.5 Y0.0 F1500;
N3 G03 I 7.5; ( I=X, J=Y, K=Z आप इसमे ' I ' की जगह R 7.5 भी दे सकते है )
N4 X7.5;
N5 M99;

( 7.5mm ये कटर का रेडीअस काट के लिया है, cutterR12.5mm - hole redius 20mm = 7.5mm. )


दोस्तों इस प्रकार से आपका main program और sub-program तयार हो चूका है, और एक बात ये दोनो ही प्रोग्राम अलग अलग पेज पर बनाना पड़ता है। और subprogram में सभी प्रकार के प्रोग्राम बना सकते है। जैसे के सरफेस मिलिंग, पॉकेटिंग, प्रोफाइल मशिनिग, इंटरपोलुशन और भी बहुत से काम कर सकते है। 

तो उम्मीद करते है दोस्तों की, आपको VMC / CNC मशीन के लिए Sub-Program कैसे बनाया जाता है? Subprogram क्या है? और Subprogram के फायदे  के बारे मे काफी कुछ जानकारी मिल गई होंगी, तब भी आपको कुछ प्रॉब्लम आता है तो हमें कॉमेंट्स कर के पूछ सकते है।

3 comments:

  1. Replies
    1. VMC मशीन के लिए Surface milling Sub-Program कैसे बनाया जाता है? ये जानने के लिए निचे दिए गए लिक पर क्लिक करे
      https://www.hindiengineer.com/2018/09/vmc-surface-milling-sub-program-2D-cnc.html

      Delete